History of Ajanta Caves (Aurangabad) | अजंता की गुफाओं के इतिहास को जानिए - Good Morning Love
ajanta cave is the best place to visit in Aurangabad (maharastra) | there lots of gautam buddha statue and ancient cave
ajanta caves, histor of ajanta caves, ajanta cave hstory in hindi, ajanta cave in maharastra
15971
post-template-default,single,single-post,postid-15971,single-format-standard,ajax_fade,page_not_loaded,,qode-title-hidden,qode-content-sidebar-responsive,qode-child-theme-ver-1.0.0,qode-theme-ver-13.0,qode-theme-bridge,wpb-js-composer js-comp-ver-5.4.4,vc_responsive
ajanta caves images trip aurngabaad

History of Ajanta Caves (Aurangabad) | अजंता की गुफाओं के इतिहास को जानिए

English

Hindi

Ajanta caves history in hindi

Ajanta caves के बारे में बात करें तो महाराष्ट्र राज्य के औरंगाबाद जिले में अजंता की गुफाएं लगभग 30  बौद्ध गुफा स्मारक के रूप में स्थित हैं जो दूसरी शताब्दी BCE से लेकर 480 या 650 CE तक हैं के काल में बनी हुई है और गुफाओं का मुख्य आकर्षण है वंहा की पेटिंग और चट्टानों से तराशी गयी मूर्तियाँ जो प्राचीन भारतीय कला का बेजोड़ उदाहरण है तो चलिए Ajanta caves history के बारे में कुछ और जानकारी पर बात करते है –

अजंता की गुफाओं में जो चित्र मिलते है उनमे खास तौर पर एक अलग तरह की खूबसूरती है जो जो इशारे, मुद्रा और रूप के माध्यम से भावना प्रस्तुत करते हैं।  यूनेस्को के मुताबिक, ये बौद्ध धार्मिक कला की कृतियां हैं जो जिसने भारतीय कला को व्यापक तौर पर प्रभावित किया था | Ajanta caves को इनके निर्माण के आधार पर दो समूहों में बांटा गया है जिसमे पहले समूह का निर्माण दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व में हुआ है और दूसरा ऐसा समूह है जिसका निर्माण  460 to 480 ईसवी में हुआ | यह जगह भारत के पुरातत्व विभाग ( Archaeological Survey of India ) की देखभाल में एक सरंक्षित जगह है | यूनेस्को ने भी इसे विश्व धरोहर स्थल की सूची में सूचीबद्ध किया है |

हालाँकि ajanta caves प्राचीन और अलग अलग बौध परम्पराओं के प्राचीन मठो और पूजा की जगह के तौर पर परिभाषित होती है लेकिन इसके अलावा यह प्राचीन भारत के व्यापारियों और तीर्थयात्रा करने वालों के लिए आराम करने की जगह भी रही है | इसमें दूसरी शताब्दी और तीसरी शताब्दी ईसापूर्व में प्रचलित बौद्ध देवताओं के चित्र भी बहुतायत से मिलते है | ajanta caves प्राचीन भारतीय चित्रकला को सरंक्षित रखने वाली ऐसी कुछ ऐतिहासिक जगहों में से है जन्हा हम प्राचीन भारत की चित्रकला के बारे में बहुत कुछ जान सकते है क्योंकि इस बारे में जानकारी देने वाली कोई दूसरी ऐतिहासिक जगह नहीं है जो इस बारे में हमे सटीकता से कुछ बताती हो क्योंकि वो सब समय के साथ साथ नष्ट हो चुकी है |

Ajanta caves के बारे में बहुत से उल्लेख मिलते है उन लोगो की किताबों में जिन्होंने मध्ययुगीन युग भारत की यात्रा की थी और उनमे से कुछ चीनी बौद्ध यात्रियों के यात्रा उल्लेख महत्वपूर्ण है | 17th शताब्दी के अकबर काल के युग में भी बहुत से लेखकों ने इस बारे में लिखा है | ajanta caves जंगल से घिरी हुई थी जब तक कि उन्हें गलती से नहीं खोज लिया गया | हुआ ये था कि 1819 में औपनिवेशिक ब्रिटिश अधिकारी को एक एक शिकार पार्टी पर जिसमे वो tiger का शिकार कर रहे थे इस बारे में पता चला और उसी समय पश्चिम का ध्यान इस ओर गया | ajanta caves एक चट्टान के किनारे स्थित है जो कि एक छोटी नदी वाघुर के उतर में स्थित है | Ellora caves के साथ ajanta caves महाराष्ट्र के मराठवाडा क्षेत्र का प्रमुख पर्यटन क्षेत्र है जो पचोरा रेलवे स्टेशन से 60 Km दूर है | औरंगाबाद शहर से 104 और वन्ही मुंबई से 350 KM दूर है | Ellora caves से इनकी दूरी 100 KM है | एक खास बात ये भी है कि अजन्ता की गुफाओं से मिलती जुलती शैली एलोरा गुफाओं और अन्य स्थलों जैसे एलीफांटा गुफाएं और कर्नाटक के गुफा मंदिरों में भी देखने को मिलती है |

तो ये है Ajanta caves history in hindi And English और इस बारे में अधिक जानकारी या सलाह के लिए आप हमे ईमेल कर सकते है और हमसे hindi history updates पाने के लिए आप हमे फेसबुक पर फॉलो कर सकते है


History of Ajanta Caves Located in Aurangabad (Maharashtra)

Talking about Ajanta caves, the Ajanta caves in Aurangabad district of Maharashtra state are located in the form of 30 Buddhist cave monuments dating back to 2nd century BCE to 480 or 650 CE and the main attraction of the caves There is a painting and rock-cut sculptures which are unique examples of ancient Indian art, so let’s talk about some more information about Ajanta caves history –

The paintings found in the Ajanta caves have a distinct beauty especially those which convey emotion through gestures, posture and form. These are masterpieces of Buddhist religious art, says UNESCO, which influenced Indian art extensively. Ajanta caves are divided into two groups on the basis of their construction, in which the first group was formed in the second century BC and the second group was formed in 460 to 480 AD. This place is a protected place in the care of the Archaeological Survey of India. UNESCO has also listed it in the list of World Heritage Sites.

Although ajanta caves are defined as ancient monasteries and places of worship of ancient and different Buddhist traditions, it has also been a resting place for traders and pilgrims from ancient India. There are also pictures of Buddhist deities prevalent in the second century and third century BC. ajanta caves is one of the few historical places that preserve ancient Indian painting. We can know a lot about the painting of ancient India because there is no other historical place that can provide information about it, which we can accurately You tell something because it has been destroyed over time.

You May also Read


Numerous mentions about Ajanta caves are found in the books of people who traveled to medieval era India and some of those Chinese Buddhist travelers have important travel mentions. Even in the era of 17th century Akbar era, many writers have written about it. ajanta caves surrounded the forest until they were discovered by mistake. It happened that in 1819, the colonial British officer came to know about a hunting party in which he was hunting tiger and at that time the attention of the West went to it. The ajanta caves are situated on the edge of a cliff which lies at the foot of a small river Vaghur. The ajanta caves along with Ellora caves are the major tourist area of ​​Marathwada region of Maharashtra which is 60 Km away from Pachora railway station. Aurangabad is 104 KM from the city and Vani is 350 KM from Mumbai. Their distance from Ellora caves is 100 KM. It is also a special thing that similar style of Ajanta caves is found in Ellora caves and other sites like Elephanta caves and cave temples in Karnataka.

So this is Ajanta caves history in English and for more information or advice about this, you can email us and you can follow us on Facebook to get hindi history updates.

No Comments

Sorry, the comment form is closed at this time.